क्या है इस छोटी परी के कंकाल का रहस्य

1 अप्रैल, 2007 को 31 वर्षीय भ्रम डिजाइनर(illusion designer) डेन वैन(Dan Baines) ने अपनी एक वेबसाइट पर कुछ आर्टिकल पोस्ट किये जिन में एक छोटी पारी का कंकाल नज़र आ रहा था ,डेन वैन का ये दवा था की वो एक असली परी का कंकाल है , डर्बीशायर(derbyshire) में फायरस्टोन हिल(Firestone hill) में एक वॉकर नाम के कुत्ते द्वारा खोजा गया था, कान, पंख, बाल, त्वचा और दांतो की,जांच की गई जो शरीर की पुष्टि कर सकते थे, ‘नृविज्ञानियों बैनस के अनुसार, और फोरेंसिक विशेषज्ञों के अनुसार एक्सरे से पता चला कि ‘परी’ के शरीर की संरचना एक बच्चे की तरह ही थी, हालांकि, हड्डियों(Skeleton) को ‘एक पक्षी की तरह खोखले और हलकी बताया गया है

इस घटना के बाद वेबसाइट पर एक बड़ी संख्या में परी जैसी चीज़ों में विश्वास करने वाले लोगों ने एक दिन में 20,000 से अधिक हिट दिए, कुछ दिनों बाद बैनेस ने अपनी वेबसाइट पर एक नोट डाला और कहा की उनकी कहानी में रुचि व्यक्त करने के लिए पाठकों का धन्यवाद और यह भी स्वीकार किया की परी की लाश नकली थी , और उन्होंने आर्टिकल में लिखा की “भले ही आप परियो में विश्वास करते हैं, जैसा मैं भी व्यक्तिगत रूप से करता हूं, हम सब लोगो के दिमाग में हमेशा संदेह का एक तत्व होता है जो बताता है कि अवशेष एक धोखा हैं भी हो सकते है

इसके बाद, बैनेस ने इस पारी के कंकाल के मोडल की बोली लगवाई जो की £280 पौंड की बची गयी थी ,बैनेस ने जवाब में सैकड़ों ईमेल प्राप्त किए, जिसमें लोगों ने कई कमैंट्स भी किये थे और ये भी कहा की इसी तरह कुछ और लोगो ने दावा किया है कि इसी तरह की परी अवशेष और पाए गए हैं, दुनिया में कुछ अभी भी मानते हैं कि यह एक असली परी का कंकाल था ,जिसका फायदा उठा कर लोग ऐसी अफवा को फैलते है और लोगो का अंधविश्वासी बनाते है ,अब ये पूरी तरह से साफ़ हो गया था की परी का कंकाल बिलकुल नकली था ,पर ये भी साफ़ हो गे की बैनेस एक महांकलाकार है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *